आध्यात्मिक राज्य के अपूर्व तत्व समूहों के बदले हम जड़ राज्य के अद्रुत तत्वों को प्राप्त करेंगे । - स्वामी विवेकानंद