ज्ञान स्वयमेव वर्तमान है, मनुष्य केवल उसका आविष्कारमात्र करता है । - स्वामी विवेकानंद